Daily Updated Punjabi News Website

हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स: सडेन डेथ में ताकतवर बेल्जियम को मात देकर सेमीफाइनल में भारत

0

भुवनेश्वर में खेले जा रहे हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में भारत ने पूल स्टेज की अपनी नाकामियों को पीछे छोड़ते हुए ओलिंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट टीम बेल्जियम को मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. पेनल्टी शूटआउट के बाद सडेन डेथ तक खिंचे इस मुकाबले में भारतीय खिलाड़ियों ने आखिरी वक्त जोरदार खेल दिखाते हुए रैंकिंग में खुद से तीन स्थान ऊपर की टीम को 3-2 से मात दे दी.

पूल स्टेज में भारत ने इंग्लैंड और जर्मनी के खिलाफ जिस तरह से कमजोर प्रदर्शन किया था उसे देखते हुए बेल्जियम को इस मुकाबले की फेवरिट टीम माना जा रहा था. बेल्जियम ने अपने तीनों पूल मुकाबले जीते थे. लेकिन नॉकआउट राउंड में भारतीय टीम पूरी तरह से बदली-बदली दिखी.

भारतीय टीम मुकाबले की शुरूआत से ही आक्रामक मूड में थी. खेल के पहले ही मिनट में भारत ने जोरदार आक्रमण किया लेकिन गुरजंत के बेहतरीन पास के एसवी सुनील ठीक तरह से कलैक्ट करके गोल नही कर सके. इसे बाद एस वी सुनील को एक और मौका मिला लेकिन वह नाकाम ही रहे. दूसरी ओर बेल्जियम की टीम अपनी रणनीति के हिसाब से गेंद पर कब्जा बरकरार रखके तेज खेल दिखा रही थी. बेल्जियम की ओर से एक गोल भी दागा गया लेकिन उसे अमान्य करार दिया गया. हाफ टाइम तक दोनों टीमें गोल नही सकीं लेकिन फिर भारतीय टीम का प्रदर्शन जोरदार रहा.

हाफटाइम के बाद हुए सभी गोल

हाफ टाइम के बाद पहले ही मिनट में भारत ने जोरदार हमला किया. आकाशदीप के पास को एसवी सुनील ने गोलपोस्ट में हिट किया जिसे गोलकीपर ने बचाया लेकिन तब तक गुरजंत भी नजदीक आ चुके थे और उन्होंने टूर्नामेंट में अपना पहला गोल दागकर भारत को बढ़त दिला दी. इसके बाद बारत को एक पेनल्टी कॉर्नर मिला जिस पर बड़ी चतुराई के साथ भारत ने जबल ऑप्शन का इस्त्माल किया. रूपिंदर के फ्लिक के हरमनप्रीत ने कलैक्ट करके गोल दाग दिया.  भारत की बढ़त 2-0 हो गई लेकिन इस तीसरे क्वार्टर के आखिरी वक्त में बेल्जियम ने पेनल्टॉकॉर्नर को गोल में हदल कर इस बढ़त को कम कर दिया.

चौथे और आखिरी क्वार्टर में दोनों टीमों के बीच जोरदार मुकाबला देखने को मिला. पहले तो बेल्जियम ने पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलकर स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया. जबाव में भारत मिले पेनल्टी कॉर्नर को रूपिंदर पाल ने गोल में बदलकर बढ़त 3-2 कर दिया. जबाव में बेल्जियम के खिलाड़ी क्यूटर अमेरी ने स्कोर फिर से बराबरी पर ला दिया. 3-3 की स्कोर लाइन पर फुल टाइम खत्म हुआ और फिर बारी आई शूट आउट की.

सडेन डेथ में हुआ फैसला

शूट आउट में भी मुकाबला बराबरी का रहा. दोनों टीमें पांच मौकों में से दो-दो मौके ही भुना सकीं. शूटआउट में भारत के लिये ललित उपाध्याय और रूपिंदर पाल सिंह ने गोल दागे जबकि हरमनप्रीत, सुमित और आकाशदीप के निशाने चूक गए. वहीं बेल्जियम के लिये आर्थर और जॉन डोमैन ने गोल किये.

इसके बाद बारी आई सडेन डेथ की. सडेन डैथ में हरमनप्रीत ने भारत के लिये गोल दागा जबकि आर्थर वान डोरेन बेल्जियम के लिये गोल नहीं कर सके. भारत के गोलकीपर आकाश चिकते ने बेहतरीन प्रदर्शन करके इस गोल को बचाकर भारत को इस बड़े टूर्नामेंट के सेमीफाइल में पहुंचा दिया.

इस मुकाबले में भारत के लिए सबकुछ ठीक रहा. भारतीय खिलाड़ी पूरी ऊर्जा के साथ खेलने उतरे और यह कहीं से भी नहीं लग रहा यह वही टीम है जिसने पिछले दो मुकाबले आसानी से गंवाए थे. अब सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला किसके साथ और कब होगा इसका पता गुरुवार को चलेगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Translate »